October 3, 2022
Train Ko Hindi Mein Kya Kahate Hain

ट्रेन को हिंदी में क्या कहते हैं ? | Train Ko Hindi Mein Kya Kahate Hain

Train Ko Hindi Mein Kya Kahate Hain :- आज का हमारा ये लेख रेलगाड़ी पर आधारित है। अक्सर पूछे जाने वाले सवाल मे से एक रेलगाड़ी Or ट्रेन को हिंदी में क्या कहते हैं ? इसके बारे में जानकारी देंगे। क्या आप इस प्रश्न का जबाब जानते हैं ?

यदि नही, तो आज का यह लेख आपको इस साधारण से प्रश्न का उत्तर बताने वाला है। इस प्रश्न का उत्तर जानना चाहते हैं, तो हमारे साथ इस लेख में अंत तक जरूर बने रहे, तो शुरू करते हैं।


रेलगाड़ी के बारे में जानकारी

आपने रेलगाड़ी से जुड़े हुए गाने तो बहुत सुने होंगे और यह जानकर भी आपको हैरानी होगी कि भारत में रोजाना 23 मिलियन यात्री ट्रेन से यात्रा करते हैं, परंतु आपने यह बिल्कुल भी नहीं सोचा होगा कि ट्रेन या रेलगाड़ी शब्द जो हम सुनते हैं, क्या वह हिंदी शब्द है या फिर इंग्लिश शब्द है ?

आपको बता दें, कि जिस ट्रेन शब्द को आप Commonly use करते है, वह हिंदी नहीं बल्कि इंग्लिश का शब्द है। रेलगाड़ी भी शुद्ध हिंदी का शब्द नहीं है।


ट्रेन या रेलगाड़ी क्या होती है ?

यह एक ऐसा वाहन होता है, जो लोहे से बनी पटरी पर चलता है, जिसमें डिब्बे एक दूसरे से जंजीरों के द्वारा जुड़े हुए होते हैं और इन डिब्बों को खींचने वाला इंजन होता है। इंजन कोयले, डीजल, बिजली आदि से चलता है। इस तरह से जुड़े हुए इंजन और डिब्बों को ट्रेन या रेलगाड़ी कहते हैं।

ट्रेन अथवा रेलगाड़ी यातायात का साधन है, जो पसेंजर को लाने और ले जाने का काम करती है। इसके द्वारा माल को भी लाया व ले जाया जाता है। जिस गाड़ी के द्वारा माल को ढोया जाता है, उसे मालगाड़ी कहते हैं। मालगाड़ी के द्वारा माल किसी भी राज्य से, किसी अन्य राज्य तक ले जाया जाता है।


रेलगाड़ी को हिंदी में क्या कहते हैं ? | Train Ko Hindi Mein Kya Kahate Hain

रेलगाड़ी को शुद्ध हिंदी में लोह पथ गामिनी कहा जाता है। जिसमें लोह का अर्थ लोहा है, पथ का अर्थ रास्ता है और गामिनी का अर्थ चलने वाली है, तो इस तरह से लोह पथ गामिनी का अर्थ हुआ – लोहे के रास्ते पर चलने वाली।

लोहे की पटरी पर चलने वाली रेलगाड़ी को सामान्य भाषा में train के नाम से जाना जाता है, परंतु ट्रेन इंग्लिश भाषा का शब्द है। ट्रेन शब्द बोलने में बहुत आसान और छोटा है इसीलिए लोग अधिकतर train शब्द का प्रयोग करते हैं।


भारत में कितने प्रकार की Trains है ?

भारत में 14 तरह की ट्रेन चलती है। जिनके से कुछ के नाम इस प्रकार है:-

  • तेजस एक्सप्रेस :- यह 2017 में शुरू की गई और इसकी रफ्तार 180 किलोमीटर प्रति घंटा है। यह भारत की सबसे तेज ट्रेनों में से एक है।
  • राजधानी एक्सप्रेस :– इस ट्रेन को साल 1969 में शुरू किया गया और इसकी अधिकतम स्पीड 140 किलोमीटर प्रति घंटा है।
  • शताब्दी एक्सप्रेस :- यह ट्रेन 1988 में शुरू की गई और इस ट्रेन की अधिकतम स्पीड 155 किलोमीटर प्रति घंटा है।
  • ग़रीब रथ एक्सप्रेस :- ट्रेन को पहली बार वर्ष 2005 में चलाया गया और इस ट्रेन की हाई स्पीड 130 किलोमीटर प्रति घंटा है।
  • गतिमान एक्सप्रेस :–  यह ट्रेन सन 2016 से संचालित की गई है। इस ट्रेन की अधिकतम स्पीड 160 किलोमीटर प्रति घंटा है।
  • जनशताब्दी एक्सप्रेस :- इस ट्रेन को साल 2003 में शुरू किया गया था इस ट्रेन की हाई स्पीड इस 110 किलोमीटर प्रति घंटा है।
  • मोनोरेल :- यह रेल 2014 से संचालित है और इसकी अधिकतम स्पीड 80 किलोमीटर प्रति घंटा है। भारत की पहली मोनो रेल मुंबई में संचालित है।
  • डबल डेकर एक्सप्रेस :- यह भारत की सबसे तेज चलने वाली ट्रेनों में से एक है।
  • लोकल ट्रेन :- लोकल ट्रेन वह होती है, जो छोटी यात्रा करती है और हर छोटे-बड़े स्टेशन पर रूकती है। यह धीमी गति की ट्रेन होती है।
  • मेट्रो :- यह हाई speed trains में से एक है। मेट्रो सिस्टम अभी तक दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु, कानपुर और लखनऊ में शुरू हुआ है।
  • लग्जरी ट्रेन :- यह trains भारत के पर्यटन स्थल और ऐतिहासिक स्थलों के लिए विशेष रूप से बनाई गई हैं।
  • टॉय ट्रेंस :- यह train मुख्य रूप से पहाड़ों में, ऊंचे पुलो पर और लंबी सुरंगों के माध्यम से चलती हैं। कालका शिमला रेलवे एक प्रसिद्ध टॉय ट्रेन मे से एक है।

भारत में ट्रेनों की संख्या कितनी है ?

इस समय भारत में 12167 पसेंजर ट्रेन है और 7349 मालगाड़ी ट्रेन है। इंडियन रेलवे में करीब 1500000 लोग काम करते हैं भारत में लगभग 66000 किलोमीटर तक रेलवे नेटवर्क का जाल बिछा हुआ है।


भारतीय रेलवे का इतिहास

भारतीय रेलवे दुनिया के 3 सबसे बड़े रेलवे नेटवर्क में से एक है। भारत में पहली ट्रेन 16 अप्रैल 1853 को चली थी। यह ट्रेन मुंबई से थाने के लिए चलाई गई थी और इस train  ने 35 किलोमीटर का सफर तय किया था।

सबसे पहली ट्रेन 20 बग्गी की थी, जिसे तीन इंजनों की मदद से चलाया गया था। 1856 से भारत में भाप के इंजन से चलने वाली ट्रेन शुरू हुई थी और देश में सबसे पहली सुपरफास्ट ट्रेन 1 मार्च 1969 को दिल्ली से हावड़ा के बीच चलाई गई थी।


ट्रेन का आविष्कार

ट्रेन का आविष्कार engineer Richard Trevithick  ने किया था। इन्होंने पहली ट्रेन 21 फरवरी 1804 को बनाई थी।

इसका इंजन भाप से चलता था परंतु यह ट्रेन सफल नहीं हो पाई। विश्व की सबसे पहली सफल train 23 सितंबर 1825 को जॉर्ज स्टीफनसन द्वारा बनाई गई थी। इसका नाम लोकोमोशन रखा गया था।


For More Info Watch This :


निष्कर्ष :

दोस्तों, आज के इस लेख में हमने जाना कि रेलगाड़ी को हिंदी में क्या कहते हैं ? OR Train Ko Hindi Mein Kya Kahate Hain. साथ ही हमने आपको रेलगाड़ी से जुड़ी कुछ अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां भी दी है।

आशा करते हैं, कि आपके लिए यह लेख मददगार साबित होगा। यदि इस लेख से संबंधित कोई भी प्रश्न आपके मन में है तो आप हमसे comment Box में अवश्य पूछ सकते हैं।

Read Also :-

Leave a Reply

Your email address will not be published.