October 3, 2022
Telephone Ka Aviskar Kisne Kiya

Telephone का आविष्कार किसने किया था ?

Telephone Ka Avishkar Kisne Kiya :- दोस्तों, आप सभी ने Telephone का नाम ज़रूर सुना होगा और उससे बातचीत भी किया होगा, मगर क्या आपको यह मालूम है, कि Telephone का आविष्कार किसने किया है ?

अगर आप का जवाब ना है, तो आप हमारे इस लेख को ध्यान से पढ़ें, क्योंकि इस लेख में हमने Telephone से जुड़ी जानकारी दे रखी  है।

Telephone का आविष्कार किसने किया था ? | Telephone Ka Avishkar Kisne Kiya

Telephone का आविष्कार अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने किया था। अलेक्जेंडर ग्राहम बेल एक Famous Stock Tips scientist थे, जिन्होंने Telephone के साथ-साथ Bell, Optical Fiber System, और Decimal Unit, फोटो फोन और मेटल-डिटेक्टर जैसे कई सारी बड़ी और ज़रूरतमंद चीज़ों का आविष्कार किए थे।

मगर आज भी दुनिया उन्हें Telephone के आविष्कार के वजह से जानती है।

टेलीफ़ोन का आविष्कार कब हुआ था ? ( When was the Telephone invented In Hindi )

Telephone Ka Avishkar Kisne Kiya Aur Kab Kiya :- Telephone का आविष्कार 2 जून 1875 में अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने किया था। मगर इस खोज में उन्होंने एक और इंसान की मदद ली थी, जिसका नाम Thomas Watson था। फिर इसके बाद लगभग 7 मार्च 1876 वर्ष को अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने इस आविष्कार को अपने नाम पर पेटेंट यानी कि दर्ज करवा लिया और वह पूरी तरह से इसके Inventor बन गए।

टेलीफ़ोन क्या है ? ( What is a Telephone In Hindi )

दोस्तों, Telephone एक Communication device है, जिसकी मदद से कोई भी मनुष्य अपने से दूर बैठे हुए इंसान से आसानी से बातचीत कर सकता है।

एक Telephone ही है, जिसकी मदद से एक टाइम पर दो या दो से अधिक मनुष्य बात कर सकते हैं और अपनी बात विचार को एक दूसरे के सामने रख सकते हैं और उनकी आवाज़ भी सुन सकते है।

Telephone को हिंदी में दूरभाषी यंत्र या दूरभाष कहते हैं। भले ही अभी के समय में आप लोगों के पास Smartphone जैसे यंत्र होंगे और इस में दुनिया भर के Application और Technology का आप इस्तेमाल करते होंगे।

मगर यह Smartphone भी Telephone का ही आधुनिक आविष्कार है। अगर Telephone का आविष्कार ना हुआ होता, तो आज शायद हम लोगो के पास Smartphone नहीं होता।

भले ही आज हम अपने Smartphone से बात करने के अलावा बहुत से काम कर सकते है।

मगर जब Telephone का आविष्कार हुआ था, तब उस वक़्त Telephone से केवल बात की जाती थी, फिर समय के अनुसार उस मे बदलाव किया गया।

टेलीफ़ोन का आविष्कार कैसे हुआ था ? (How Was The Telephone Invented In Hindi )

दोस्तों, जैसे कि अभी तक हम ने ऊपर के टॉपिक में जाना, कि Telephone Ka Avishkar Kisne Kiya Or Telephone का आविष्कार कब हुआ और किसने किया मगर Telephone का आविष्कार क्यों किया ? इसके बारे में आप को मालूम नहीं होगा।

Telephone का आविष्कार करने के पीछे भी एक कहानी है, जिसके कारण से अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने Telephone का आविष्कार किया था।

आप लोगों को यह मालूम नहीं होगा, कि अलेक्जेंडर ग्राहम बेल की पत्नी और माँ दोनों ही बहरी थी, यानी की वो सुन नही सकती थी । मगर ग्राहम बेल उनकी बातों को अच्छे तरह से समझते थे और ग्राहम बेल के हिसाब से उसे ध्वनि के बारे में काफी जानकारी थी।

अलेक्जेंडर ग्राहम बेल का यह मानना था, कि Telegraph तार के जरिए ध्वनि, ( Sound ) को Signal में बदला जा सकता है और उसको इस विषय पर Research करने में काफी रूचि थी और उस रुचि के चलते ग्राहम बेल ने इस विषय पर काफी रिसर्च भी करते थे।

उन दिनों ग्राहम बेल के साथ थॉमस वाटसन ने उनका Telephone के आविष्कार करने में काफी महत्वपूर्ण योगदान दिया था। काफी समय तक Telegraph के जरिए ध्वनि को भेजने के ऊपर अलेक्जेंडर ग्राहम बेल और थॉमस वाटसन experiment कर रहे थे, परंतु उन को सफलता नहीं मिल रही थी।

फिर एक बार क्या हुआ, कि थॉमस वाटसन और अलेक्जेंडर ग्राहम बेल अपनी खोज में लगे हुए थे। उस समय थॉमस वाटसन ऊपर के कमरे में गए थे और ग्राहम बेल नीचे के कमरे में थे। अचानक उस समय ग्राहम बेल की Pent ( पजामे ) पर हल्का सा तेजाब गिर गया।

और फिर जैसे ही ग्राहम बेल की Pent के ऊपर तेजाब गिरा, उन्होंने थॉमस वाटसन को मदद के लिए आवाज़ लगाई, पहले तो उन्हें यह सब कुछ सामान्य ही लग रहा था, मगर उनका आवाज़ उन्हें ही सुनाई दे रहा था।

फिर अचानक थॉमस वाटसन को यह महसूस हुआ, कि जो आवाज़ वह सुन रहे हैं, वह उन के पास रखे हुए उपकरण में से आ रही है।

तो कुछ इसी प्रकार से Telephone का आविष्कार हुआ था और इसी दिन अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने टेलीफ़ोन को अच्छे तरह से बनाया उसका परीक्षण सफल साबित किया ।

यह आविष्कार 1875 में 2 जून को हुआ था। फिर आगे चल कर 1876 में उन्हें आधिकारिक रूप पर Telephone के आविष्कारक के रूप में स्वीकार किया गया।

 टेलीफ़ोन काम कैसे करता है ? ( How does the Telephone Work In Hindi )

ऊपर हमने आपको Telephone Ka Avishkar Kisne Kiya के बारे में बताया, अब Telephone के काम करने के तरीके के बारे में जानेंगे।

अगर हम Telephone के काम करने के तरीके को समझें और इसके बारे में विस्तार से जाने, तो Telephone मनुष्य की आवाज़  ” Human Voice ” को एक Signal के रूप में बदलता है और किसी अन्य Device की मदद से यह Signal सामने वाले के Telephone में जाता है।

और उसे यह signal एक ध्वनि के रूप में सुनाई देता है, जिसके कारण से आपकी सामने वाले व्यक्ति के साथ बातचीत होती है । मगर आज के युग में Telephone जैसे बात करने की प्रक्रिया mobile phone में होने लगी है।

जिस से कोई भी व्यक्ति चलते फिरते या कोई काम करते हुए भी सामने वाले से mobile, phone के ज़रिये बात कर सकता है लेकिन पुराने ज़माने में ऐसा बिलकुल नहीं था।

पहले टेलीफ़ोन में तार का उपयोग किया जाता था और उस तार की मदद से ही आपकी ध्वनि सामने वाले के Telephone में पहुँचती थी और इसी प्रक्रिया से एक दूसरे से बात हो पाती थी।

Telephone या Mobile पर बात करते समय सबसे पहले Hello ही क्यों कहा जाता है ?

Telephone या Mobile पर बात करते समय सबसे पहले Hello बोलने के पीछे एक कहानी है।

ऐसा माना गया है, कि अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने एक ही जैसे दो Telephone बनाया था और एक Telephone अपने पास रखा था और दूसरा Telephone अपने girlfriend को दिया था और उनके girlfriend का नाम मार्ग्रेट हेल्लो था।

और फिर अपने girlfriend के पास फ़ोन किया था और अपने गर्लफ्रेंड का नाम बड़े ही प्यार से Hello कह कर पुकारा था और उसी वक़्त से लोग Telephone या Mobile पर बात करते समय सबसे पहले Hello का प्रयोग करने लगे।

Conclusion, निष्कर्ष

दोस्तों उम्मीद करता हूं, कि आप जान चुके होंगे, कि Telephone Ka Avishkar Kisne Kiya ( टेलीफ़ोन का आविष्कार किसने किया था ? ) और और टेलीफ़ोन किया है। आप हमसे कमेंट कर के सवाल पूछ सकते हैं हम आपके सवाल का जवाब ज़रूर देंगे।

Read Also :- 

Leave a Reply

Your email address will not be published.